October 15, 2020
शिमला टूरिस्ट प्लेस-Shimla Tourist Places in hindi

शिमला टूरिस्ट प्लेस-Shimla Tourist Places in hindi

शिमला टूरिस्ट प्लेस-Shimla Tourist Places in hindi घूमने का शौक रखने वाले लोगो को अच्छी जगह घूमने की तलाश रहती है। ओर शिमला भी घूमने की दृष्टि से सर्वश्रेष्ठ जगह है। शिमला शहर की खूबसूरती सभी पर्यटकों को आकर्षित करती है। यहां की प्राकृतिक जलवायु भी लोगो को बहुत सुहावनी लगती है। यहां हम बर्फीली पहाड़िया , हरे भरे मैदान,  फूलों की सुंदर क्यारियां , रंगीन वादिया आदि का लुप्त उठा सकते है। शिमला पहाड़ों वाला शहर है क्योंकि ये हिमाचल प्रदेश के पहाड़ों पर बसा हुआ है।

देश ओर विदेशों में ये शहर हिल स्टेशनों की रानी के नाम से भी जाना जाता है।शिमला की खुबसूरत वादिया  और शिमला के पर्यटक स्थल पर्यटकों खूब भाते है। ये केवल भारतीय पर्यटकों को ही नहीं बल्कि विदेशी पर्यटकों को भी आकर्षित करता है। ये इलाका पहाड़ी होने के कारण इसे पहाड़ों वाला शहर भी कहते है। ओर यहां बहुत ही सुन्दर हरे भरे मैदान व फल फूलो से लदे पेड़ पौधे , बर्फीली चादर औढे पहाड़ों के नज़ारे देखने को मिलते है। ये जगह शादीशुदा जोड़ों को भी अपनी ओर खींचती है और बहुत से जोड़े अपना हनीमून मनाने यहां आते है। शिमला की हवाओ में ऐसी खुशबू है कि ये किसी को भी मदमस्त कर देती है।

शिमला का इतिहास हिंदी में-History of Shimla in Hindi

हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला है। ब्रिटिश शासन के समय से पूर्व में ग्रीष्मकालीन राजधानी थी। कई पहाड़ियों पर शिमला शहर फैला हुआ है। शिमला जिन पहाड़ियों पर स्थित है। जाखू पहाड़ी पर 8050 फीट है। प्रॉस्पेक्ट हिल पर 7140 फीट तक फैला हुआ है। ऑब्ज़र्वेटरी हिल पर लगभग 7050 फीट है। एलिसीयम हिल 7400 फीट और समर हिल 690 फीट तक फैला हुआ भूभाग  हैं। शिमला का नाम की उत्पति ‘श्यामलय’ से हुआ था। जिसका मतलब नीला घर  होता है।  इन पहाड़ी इलाकों में पहले कच्चे मकान ही हुआ करते थे।

राजनीतिक एजेंट लेफ्टिनेंट रॉस ने सबसे पहले इसे ब्रिटिश निवास बनाया। ओर लकड़ी की एक कुटिया बनाई। लेफ्टिनेंट चार्ल्स पॅट कैनेडी ने 1822 में लेफ्टिनेंट कैनेडी के नाम पर ‘केनेडी हाउस’ बनाया था। तिब्बत सड़क का निर्माण भारत में 1850-51 में हुआ था। ये मार्ग कालका से शुरू होकर शिमला तक का बना था। वाहनों द्वारा शिमला जाने का मार्ग 1860 किलोमीटर तक का है। लगभग 560 फीट लंबी सुरंग के संजौली के बनाई गई थी। शिमला को भारत की ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित 1864 में किया गया।

आजादी के बाद, शिमला को पंजाब की राजधानी बनाया गया। और फिर हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला को घोषित कर दिया गया। शिमला ओर कालका के बीच 1903 में  रेल लाइन का निर्माण किया गया था। 1946 में भारतीय राष्ट्रवादी आंदोलन के लिए देश के महत्वपूर्ण सम्मेलन हेतु सभी नेताओं शिमला में उपस्थित हुए।  ये सम्मेलन सन् 1946 में हुआ था। इस सम्मेलन में आजादी पाने के लिए स्वतंत्रता का मार्ग प्रशस्त किया

शिमला टूरिस्ट प्लेस-Shimla Tourist Places in hindi

शिमला में घूमने के लिए बहुत सारी खूबसूरत जगह है शिमला टूरिस्ट प्लेस हिमाचल का मुख्य प्रयटक स्थल है। शिमला वर्तमान में हिमाचल प्रदेश की राजधानी है। ये प्रकृति द्वारा हमे प्रदान किया गया बहुत ही सुन्दर उपहार है। क्योंकि इसका सौंदर्य देखकर हर कोई दंग रह जाता है। शिमला चारों ओर से हरे भरे पहाड़ों और बर्फीली पहाड़ियों व चोटियों से घिरा हुआ है। पर्यटक दृष्टि से बहुत ये बहुत अच्छी जगह है।

शिमला टूरिस्ट प्लेस-Shimla Tourist Places in hindi

यहाँ आप हर जगह मनोहरम दृश्य देखने को मिल जायेंगे – समर हिल्स शिमला, जाखू मंदिर,  स्कैंडल पॉइंट, नालदेहरा-शिमला, वाइसरीगल लॉज, स्टेट म्यूजियम, वुडविल पैलेस, द माल है इसके अलावा भी बहुत से शिमला के पर्यटक स्थल है जो पर्यटकों को पसंद आते है।

समर हिल्स शिमला-Summer Hills Shimla
शिमला टूरिस्ट प्लेस-Shimla Tourist Places in hindi
Summer Hills Shimla

शिमला के रेलवे लाइन पर समर हील स्थित है। समर हील की ऊंचाई समुद्र तल से 1283 मीटर है। समर हील बहुत ही सुन्दर और मनोरम है।इस हील पर हरे भरे पेड़ पौधे ओर वनस्पतियां पाई जाती है। इसकी हरियाली भरा क्षेत्र आगंतुक को अपनी ओर आकर्षित करता है। ये बहुत ही खूबसूरत प्यारी जगह हैं। यहां का वातावरण एकदम शान्ति प्रद है। इस पहाड़ी पर बहुत सुंदर मैनोर्विल हवेली और हिमाचल प्रदेश का विश्वविद्यालय  इस पहाड़ी पर स्थित हैं। जो बहुत सुन्दर और देखने लायक है ।

जाखू मंदिर शिमला-Jakhu Temple Shimla

शिमला टूरिस्ट प्लेस-Shimla Tourist Places in hindi
जाखू मंदिर शिमला

 जाखू मंदिर शिमला की जाखू नामक पहाड़ी पर स्थित है। जाखू पहाड़ी शिवालिक श्रृंखलाओं की सबसे बड़ी पहाड़ी है। जाखू पहाड़ी पर बहुत ही सुन्दर नज़ारा देखने को मिलता है। यहां हरे भरे मैदान , फल फूलो से लदे पेड़ पौधे आदि पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करते है। जाखू मंदिर सबसे प्राचीन मंदिर माना जाता है। इसका वर्णन कई पौराणिक कथाओं में किया गया है। ये जगह पर्यटकों में रहस्यमयी विचार पैदा करती है।

इसे देखकर लोगो को ऐसा ये जगह रहस्यों से परिपूर्ण लगती है। हिन्दुओं के इष्ट देव भगवान हनुमान जी की प्रतिमा जाखू मंदिर में स्थापित की गई है। यह स्थल शिमला के अन्य मंदिरों से विशेष मंदिर माना जाता है। जाखू मंदिर में हनुमान जी की बहुत बड़ी प्रतिमा है। जो शिमला के कई स्थानों तक नजर आती है। शिमला का जाखू मंदिर रिज से 2 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

ये हनुमान जी की मूर्ति देश की सबसे ऊंची मूर्तियों में से एक है।जो 33 मीटर ऊंची है। इस मंदिर के बारे में एक धार्मिक मान्यता है। की सतयुग काल में में श्री हनुमान जी ने यहां आराम किया था । जब लक्ष्मण को पुनर्जीवित करने के लिए संजीवनी बूटी लाने गए थे।

 स्कैंडल पॉइंट – Scandal Point In Hindi

शिमला टूरिस्ट प्लेस-Shimla Tourist Places in hindi
Scandal Point

 हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में स्कैंडल पॉइंट स्थित है। जो कि बहुत सुंदर पर्यटन स्थलों में से एक है। स्कैंडल प्वाइंट शिमला में  पर्यटकों के आकर्षण का मुख्य केंद्र है। इसकी प्राकृतिक सुंदरता से पर्यटकों  प्रभावित होकर यहां घूमने आते है। इसका मैदान समतल ओर सरल है। यहां का वातावरण बिल्कुल खुला है । हम यहां आराम से घूम सकते है। माल रोड के मध्य में स्कैंडल पॉइंट स्थित है।

ये शिमला के बाज़ार के भी बहुत निकट है। यहां हम घोड़े की सवारी का मजा ले सकते है। ये जगह बहुत मनोरंजनदायक मानी जाती है। लोगो द्वारा कहा जाता है कि यह जगह पहाड़ी प्रेमियों के लिए स्वर्ग के सामान है। यहां बहुत सारे घने देवदार और स्प्रूस वृक्ष पाए जाते है। इन्हें देखकर ऐसा लगता है कि पहाड़ जैसे  कंबलो से ढका हुआ है। ये दृश्य सबको बहुत अच्छा लगता है। यहां के ऐसे नज़ारे स्कैंडल पॉइंट  को आकर्षक बनाते हैं। यहां हम मैगी हील स्टेशन का लुप्त उठा सकते है।

नालदेहरा  शिमला-Naldehra Shimla

शिमला टूरिस्ट प्लेस-Shimla Tourist Places in hindi
Naldehra Shimla

हिमाचल प्रदेश में बहुत सारे सुंदर और आकर्षक हील स्टेशन भरे पड़े है। ये शिमला के पर्यटक स्थल नालदेहरा भी उन्हीं में से एक है। नालदेहरा शिमला के पास में ही बना हील स्टेशन है। ये बहुत ही शानदार हील स्टेशन है। इस हील स्टेशन के बारे में पर्यटक ज्यादा नहीं जानते है। लेकिन ये बहुत ही सुन्दर क्षेत्र है। क्योंकि ये हील स्टेशन हरी भरी वादियों के बीच बसा हुआ है।

ये खूबसूरत हिलस्टेशन गोल्फ कोर्स के लिए प्रसिद्ध है। नालादेहरा में भारत का सबसे पुराना गोल्फ कोर्स स्थित है। यहां हर साल गोल्फ टूर्नामेंट भी होता है। ऐतिहासिक रिकॉर्ड के अनुसार इस खूबसूरत पहाड़ी की खोज के ब्रिटिश वायसराय लॉर्ड कर्जन द्वारा की गई थी। वे इस जगह से इतने प्रभावित हुए कि उन्होंने क्षेत्र में एक गोल्फ कोर्स बनाने का निश्चय किया।

नालदेहरा का नाम दो शब्दों ‘नाग’ और ‘डेहरा’ से मिलकर बना है। जिसका अर्थ होता है सांपों के राजा का निवास। महूनाग मंदिर, नाग भगवान को समर्पित, ये हिन्दुओं का एक महत्वपूर्ण धार्मिक स्थल है। साल में यहां कई मेले भी लगते है। ओर यहां का विश्व प्रसिद्द मेला सिपी है। ये मेला जून के माह में आयोजित होता है । नालदेहरा में कई मेले भी लगते हैं। शिमला में ओर भी कई जगह  संग्रहालय, थिएटर और औपनिवेशिक लॉज से लेकर चलने के लिए अनोखे रास्ते, चहल-पहल वाले मॉल, गोथिक शैली में बने चर्च और हेरिटेज होटल आदि जगहों पर घूमना भी पर्यटकों को बहुत पसंद आता है।

वाइस रीगल लॉज -Vicerial lodge

शिमला टूरिस्ट प्लेस-Shimla Tourist Places in hindi
वाइस रीगल लॉज

शिमला में  वाइसरीगल लॉज प्राचीन इमारत ऑव्सर्वेटरी हिल के ऊपर स्थित है। इसे राष्ट्रपति निवास के नाम से भी जाना जाता है। यह भारत के वायसराय का मूल निवास अंग्रेजो के समय से माना जाता था। अब इसे इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस स्टडी के गढ़ के नाम से जाना जाता है।   स्कॉटिश शैली वास्तुकला से इस इमारत की सजावट की गई है। इसके लिए चीड़ और देवदार की लकड़ी उपयोग में ली गई है। इस इमारत की बालकॉनी से हम पहाड़ों की खूबसूरती का नज़ारा  देख सकते है।

स्टेट म्यूजियम शिमला -State museum shimala

स्टेट म्यूजियम स्कैंडल प्वाइंट से पश्चिम में दो किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। शिमला के स्टेट में मुख्य रूप से देखे जाने वाली चीज़े राजस्थान के लघु चित्र और चंबा की कढ़ाई, सिक्के, आभूषण, मंदिर की नक्काशी और हथियार आदि का विशाल संग्रह देखने को मिलता है। एक पुराने विक्टोरियन हवेली के अंदर ये संग्रहालय बना हुआ है। इन सुंदर पहाड़ी का वातावण बहुत ही शांत और मनोरम है। वायसराय विलियम बेरसफोर्ड ने भी यहां अपना निवास स्थान बनवाया था।

बाद में इस स्थान भारत सरकार के अधिकारियों द्वारा अपने कार्यों के लिए काम में लिया जाने लगा। सन् 1974 में इसका निर्माण किया गया था। शुरुआत में यह स्थान पिकनिक स्थान तो कभी रेसिंग, क्रिकेट और पोलो का मैदान भी हुआ करता था। ये स्थान जंगलों के से घिरा हुआ है। यह स्थान 121 बीघा में फैला हुआ है। ये रिज से चार किलोमीटर ऊपर बना हुआ है। ओर समुद्र तल से इसकी ऊंचाई 6,117 फीट है। ये म्यूजियम एक विशाल घाटी पर स्थित है।

वुडविल पैलेस शिमला -Woodville palace shimala

शिमला टूरिस्ट प्लेस-Shimla Tourist Places in hindi

वुड़विल पैलेस शिमला के पूर्वी भाग में स्थित है। वुड़विल पैलेस का इतिहास 1865 वर्ष से चला आ रहा है। ब्रिटिश सेना के कमांडर-इन-चीफ सर विलियम मैन्सफील्ड को यहां का पहला निवासी माना जाता था। इस पैलेस का पुनर्निर्माण 1938 मे किया गयाथा। इस पैलेस का पुनर्निर्माण शिल्प कौशल के उच्चतम गुणवत्ता वाले कारीगरों द्वारा किया गया था।

इसका पुनर्निर्माण 100 कारीगरों द्वारा किया गया था। इस पैलेस को 1977 में हेरिटेज होटल में परिवर्तित कर दिया गया था। ये जगह भी पर्यटक दृष्टि से घूमने योग्य है। हरियाली भरा ये क्षेत्र शिमला का सबसे अच्छा स्थान है। यहां बहुत सुंदर गुलाब का बगीचा और सुव्यस्थित हरे भरे लॉन स्थित हैं। यहां हम सुबह के समय ओर शाम को शुद्ध और ताजी हवा में टहल सकते है। सुबह के समय यहां का मौसम बहुत ही शांत और सुहावना लगता है।

 द माल शिमला-The Mall Shimla 

शिमला टूरिस्ट प्लेस-Shimla Tourist Places in hindi
द माल शिमला

 मॉल शिमला के  सभी गतिविधियों व आकर्षण  की मुख्य वजह है। यहां हम सभी चीजों के शॉप, कैफे, थिएटर, रेस्तरां आदि उपलब्ध है। और सभी प्रकार के मनोरंजन के सभी साधनों का मज़ा यहां ले सकते है। यहां के रेस्तरां की दुकानों पर हम बहुत ही स्वादिष्ट व्यंजनों का आनंद ले सकते है।   और सांस्कृतिक गतिविधियों के लिए व फिल्मी मनोरंजन गेयटी मानोगेयटी थिएटर द्वारा एन्जॉय कर सकते है। शॉपिंग करने के लिए ये जगह बहुत ही बेस्ट है। माल रोड पर एक से बढ़कर एक बड़ी दुकानें, शोरूम और स्टोरहाउस जैसी जगहें है।

जहां शॉल और ऊनी कपड़ों से लेकर आभूषण, मिट्टी के बर्तन और किताबें उपलब्ध है। शिमला में घूमने की बहुत सी जगहें हैं। यहां पहाड़ों ओर वादियों की सुंदरता के अलावा बहुत सी अन्य चीज़े भी यह देख सकते है जैसे – संग्रहालय, थिएटर, औपनिवेशिक लॉज से लेकर चलने के लिए अनोखे रास्ते, चहल-पहल वाले मॉल, गोथिक शैली में बने चर्च और हेरिटेज होटल  आदि है। शिमला ये बहुत ही व्यापक विश्व प्रसिद्द हिल स्टेशन जहा हमारे मन को बहुत ही शान्ति महसूस होती हैं। शिमला का प्राकृतिक स्वरूप पर्यटकों को बहुत लुभाता है।

शिमला कैसे जाये-How to get shimla

हवाई जहाज के द्वारा

हवाई मार्गो के द्वारा शिमला शहर देश के सभी बड़े शहरों से भलीभांति जुड़ा हुआ है जबरहद्दी जगह पर शिमला एयरपोर्ट बना हुआ है। शिलमा चंडीगढ़ ओर दिल्ली से भी हवाई मार्गो से जुड़ा है। शिमला जाने के चंडीगढ़ व दिल्ली के करीबी हवाई अड्डे माने जाते हैं।

ट्रेन के द्वारा 

कालका में शिमला जाने के लिए बड़े बड़े स्टेशन है। कालका स्टेशन सभी बड़े स्टेशनों को जोड़ता है। कालका से शिमला जाने वाली ट्रेन छोटी लाइन पर चलती है। इसे बच्चों वाली ट्रेन भी कहते है। जो सभी जगह जानी जाती है।

रोड के द्वारा

 दिल्ली से शिमला 350 किलोमीटर दूरी पर स्थित है। ओर चंडीगढ़ से 118 किलोमीटर दूर है। शिमला जाने के लिए सभी प्राइवेट व सरकारी बसें उपलब्ध है। इन रास्तों पर टैक्सी की व्यवस्था भी यहां आसानी से हो जाती है।

शिमला टूरिस्ट प्लेस-Shimla Tourist Places in hindi

शिमला घूमने कब जाए -When to visit Shimla

भारत देश के अन्य राज्य में गर्मी पड़ती है। ओर शिमला का मौसम गर्मियों में भी सुखद होता है। शिमला का मौसम गर्मियों में भी सुखदायक होता है। शिमला के खूबसूरत प्लेस देखने लिए गर्मियों की छुट्टियों में घूमने के लिए बेस्ट प्लेस है। शिमला में सर्दियों का मौसम बहुत ही सुहावना होता है। कड़कड़ाती सर्दी में स्नोफॉल का मजा भी ले सकते हैं। सारे पहाड़ बर्फ की चादर से ढक जाते हैं। बारिश के मौसम में यहां हरियाली ही हरियाली छा जाती है। शिमला जाने के लिए किसी भी समय विशेष की आवश्यकता नहीं है। यहां पर मौसम में जाया जा सकता है। शिमला की जलवायु और मौसम में अच्छी लगती है।

शिमला टूरिस्ट प्लेस-Shimla Tourist Places in hindi