December 12, 2019
kodaikanal/places to visit in kodaikanal

kodaikanal/places to visit in kodaikanal

kodaikanal/places to visit in kodaikanal , कोडैकनाल Kodaikanal भारत के तमिल नाडु राज्य में बसा एक Kodaikanal Amazing tourist spot है। और Best Honeymoon Places Kodaikanal है kodaikanal lake समुद्र तल से 2133 मीटर ऊंचा तमिलनाडु का कोडईकनाल हिल रिजॉर्ट अपनी सुन्दरता और शान्त वातावरण से सबको सम्मोहित कर देता है। पलनि हिल के बीच बसा यह जगह दक्षिण भारत का प्रमुख हिल स्टेशन है। खूबसूरत पहाड़ियों में नगीने सा सजा कोडाइकनाल देश का एक मनमोहक हिल स्टेशन है। नैचुरल ब्यूटी के बीच अंतरंग पलों की तलाश में निकले हनीमूनर्स हों या हेल्थ बेनेफिट और नई ताजगी के लिए आए टूरिस्ट, सभी को यहां का प्राकृतिक सौंदर्य अट्रैक्ट करता है।

कोडैकनाल में बहुत से रमणीय दृश्य हमे देखने को मिलते है। इस स्थान पर घूमने का आनंद कुरिन्‍जी के फूलो की पंखुड़िया के खिलने के दोरान अत्यधिक बढ़ जाता है। जबकि यह फूल बारह साल के समय अंतराल में केवल एक बार खिलता है। ये फूल यहाँ के सुहावने दृश्यों का महत्वपूर्ण अंग है। यहाँ निवास करने वाले लोग भी इन फूलो को अपनी प्राकृतिक सुन्दरता का अद्वितीय उदाहरण मानते है। ये यहाँ की सुन्दरता का मुख्य प्रतिक माना जाता है। ये फूल यहाँ के सौन्दर्य को और अधिक बढाकर यहाँ की शान बना हुआ है।

kodaikanal/places to visit in kodaikanal

इन फूलो की पंखुड़िया जब नीले आकाश के नीचे खिलती है तो बहुत ही सुंदर और मनोरम लगती है। और इस फूल से आने वाली खुशबू यहाँ आने वाले पर्यटकों को मदहोश कर देती है। कोडईकनाल स्थान की सुन्दरता बढाने वाले कई प्राकृतिक भू-अंग है जैसे – विशाल चट्टान, शांत झील, फलों के बगीचे और यहां के हरे भरे पेड़-पौधों पर लदे फूल और फल यहाँ की सुदंरता को बढाते है। इस जगह के पास में स्थित यूकेलिप्टस और पाइन के जंगलों से आने वाली स्‍वच्‍छ और शुद्ध हवा यहां के पर्यावरण को और अधिक महकाती और सुहावनी बना देती हैं।

कोडईकनाल का संक्षिप्त विवरण ईसा पूर्व के तमिल संगम साहित्य में विस्तार से किया गया है। यहाँ स्थित पलानी हिल्स के इल्लाको में पेलियन्स और पुलयन्स नामक आदिम जनजाति अपना ढेरा जमाये हुई थी। ये जनजाति इन्ही हिल्स पर निवास करती थी। अंग्रेजों के द्वारा सन 1845 में इस जगह हिल स्टेशन स्थापित किया था। ये हिल स्टेशन ब्रिटिश प्रशासकों और मिशनरियों का सबसे पसंदीदा हिल स्टेशन बन गया था। इसलिए ये लोग गर्मियों के दौरान यहाँ अपना समय गुजारने आते थे।

kodaikanal/places to visit in kodaikanal

बेरिजम झील कोडैकानल/Berijam Lake Kodaikanal

कोडैकानल की बेरीजम झील इस हिल स्टेशन से लगभग 20 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है। यह झील वन-क्षेत्र में स्थित है। इस स्थान पर घुमने के लिए परमिट की आवश्यकता पड़ती है। यहाँ देखने लायक कई जानवर प्रमुख रूप से यहाँ पाए जाते है। ये जानवर कई बार इस झील पर पानी पीने आते है। जैसे- बाइसन, हीरण, सांप और पैंथर पानी पीते नज़र आते है। इस स्थान पर भ्रमण करने के लिए प्रवेश सुबह 9.30 से 3 बजे तक सीमित समय अवधि निश्चित है। इस जगह कई प्रकार के मशरूम लगे हुए पाए जाते हैं। यहाँ और भी कई आकर्षक चीजे देखने को मिलती है- जैसे- फायर टावर, लेक व्‍यू, साइलेंट वैली और मेडिसिन फॉरेस्‍ट झील आदि यहाँ आने वाले पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करते हैं। यह जगह जंगल और जंगली जानवरों को देखने हेतु सबसे अच्छा स्थान है।

ब्रायंट पार्क कोडैकानल/Bryant Park Kodaikanal

kodaikanal/places to visit in kodaikanal
kodaikanal/places to visit in kodaikanal

ब्रायंट पार्क यहाँ के बस स्टैंड से लगभग आधा किलोमीटर दुरी पर है, जो पूर्व दिशा में स्थित है। इस पार्क में कई प्रकार की वनस्पतियाँ पाई जाती है। ये एक प्रकार से संरक्षित वनस्पति उद्यान भी कहा जाता है। इस पार्क के अधिकारी एच.डी.ब्रायंट थे, और पार्क का नाम एच.डी. ब्रायंट के नाम पर ही रखा गया है। यह एक वन अधिकारी हुआ करते थे और उन्‍होंने ही 1908 में इस योजना को स्थगत कर पार्क का निर्माण किया था। इस पार्क में पाए जाने वाली वनस्पतियों में झाड़ियों, पेड़ और कैकटस आदि है।

बंसत ऋतू के समय यह सुंदर स्थान रंगीन फूलों और पतियों से लद जाते है। इस पार्क में सन 1857 से एक यूकेलिप्टस का पेड़ और एक बोधि वृक्ष पाया जाता है। इन वृक्षों के प्रति यहाँ के लोगो में धार्मिक आस्था का भी मुख्य कारण है। यहाँ एक सुंदर नर्सरी भी बनाई गई है। जहां सजावटी फूल और पेड़ आदि को बेचने का कार्य भी किया जाता हैं। पार्क में बसंत ऋतू के समय एक बागवानी प्रदर्शनी का आयोजन भी किया जाता है। जो पर्यटकों के आकर्षण का मुख्य केंद्र है। पार्क में प्रवेश करने हेतु शुल्क भी निर्धारित किया गया है, जो की लोगो के अनुसार बहुत कम शुल्‍क है। और पर्यटक आसानी से शुल्क जमा कर इस सम्पूर्ण पार्क का आनंद ले सकते है।

इन्हें भी विजिट करे 

hindi shayari

happy new year 2020 wishes/नए साल की शुभकामनाएं

राजस्थान के पर्यटन स्थल-Rajasthan Tourist places in Hindi

कोडईकनाल झील/Kodaikanal Lake

कोडैकनाल झील का निर्माण मानव द्वारा किया गया था। इसलिए इसे मानव निर्मित भी कहते है। यह मानव निर्मित झील कोडईकनाल की लोकप्रियता का प्रमुख दृश्य है। इस को तारे के आकार दिया गया है। जो की बहुत ही शानदार कला का उदाहरण है। यह झील इस क्षेत्र के 60 एकड़ भू-स्थल पर फैली हुई है। झील के चारो और हरा-भरा हरियाली से भरपूर क्षेत्र पाया जाता है। ये स्थान पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करता है। इस झील में बोट क्लब भी पाए जाते है, तथा रोमांचक रेसिंग ट्रिप का आयोजन भी यहाँ लोगो द्वारा किया जाता है।

कोकर्स वॉक/Coker’s Walk

कोकर्स वॉक/Coker's Walk-Kodaikanal
kodaikanal/places to visit in kodaikanal

क्रोकर्स वॉक से एक दृश्य लेफ्टिनेंट कोकर के नाम पर यहाँ कोकर्स वॉक पड़ा। जिसे कोकर ने कोडई का मानचित्र तैयार किया था। इस जगह की दूरी झील से एक किलोमीटर की है। कोडईकनाल के दक्षिण में स्थित इस स्थान पर तीव्र ढलान देखी जा सकती है। और साथ ही यहाँ सुन्दर मैदानों के नजारे का भी लुप्त भी उठाया जा सकता हैं। यहाँ के दृश्य पर्यटकों को बहुत मनमोहक लगते है।

कुरिन्जी अंदावर मंदिर/Kurinji Andavar Temple

यहाँ का कुरिंजी अन्दावर मंदिर भी पर्यटकों में प्रसिद्द है। यह मंदिर यहाँ की शान को और अधिक बढाता है। कोडाइकनाल झील से यह मंदिर कुल 3 किमी की दूरी पर निर्मित है। कुरिन्जी अंदावर मंदिर का धार्मिक दृष्टि के अलावा पर्यटकों दृष्टि से भी बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। इस मंदिर की साज-सजा और कलाकृति पर्यटकों के लिए घुमने हेतु बहुत योग्य है। यह मंदिर भगवान मुरुगा को समर्पित है। यह मंदिर हिंदूओ का प्रमुख धार्मिक स्थल माना जाता है। यहा के लोगो की धार्मिक आस्था के अनुसार भगवान मुरुगा को ‘पहाड़ी का देवता’ कहा जाता है।

तमिल भाषा में पहाड़ी क्षेत्र को कुरिनजी शब्द से सम्बोधित किया जाता है। और अंदावर शब्द का अर्थ ‘ईश्वर’होता है। इसलिए यह नाम पहाड़ी और पहाड़ी के भगवान के साथ अपने संबंध का प्रतीक है। इस मंदिर का कुरिनजी फूल से भी विशेष संबंध है, जो 12 साल में एक बार पहाड़ी पर खिलता है। और कहा जाता है कि फूल वर्ष 2004 के आखिरी में खिला है। लोगो के अनुसार, इस साल शहद कुरिनजी फूल के फल का औषधीय महत्व बहुत अधिक होता है। पर्यटक इस मंदिर से पलानी और वैगई बांध का अद्भुत और शानदार नजारो को देखने का लुप्त उठाते हैं।

बीयर शोला फॉल/Beer shola fall

Beer shola fall Kodaikanal
kodaikanal/places to visit in kodaikanal

इस स्थान को पर्यटक दृष्टि से बहुत ही उपयुक्त माना जाता है। क्योकि ये लोगो के लिए बहुत ही अच्छा पिकनिक स्पोर्ट भी कहा जाता है। ये स्थान कोडई झील से लगभग 1.6 किमी दुरी पर स्थित है। इस स्थान को घुमने जाने वाला मार्ग बहुत ही ऊबड़-खाबड़ है। यहां जाते समय पर्यटकों को अक्‍सर भालूओं को पानी पीते हुए देखने का अवसर भी मिलता है। यहाँ पाए जाने वाले भालुओं के कारण इस झरने का नाम बीयर शोला रखा गया है।

टेलिस्कोप हाउस/ Telescope House

वेधशाला यहाँ स्थित सौर वेधशाला भी यहाँ का घुमने लायक क्षेत्र माना जाता है। यहाँ कई प्रकार की घाटी और आसपास के स्थानों की सुंदरता पर्यटकों को लुभावनी लगती है। यहाँ दो टेलिस्कोप हाउस कोडई में स्थापित किए गए हैं। कोडईकनाल में इनके अलावा सौर भौतिक वेधशाला, डोलमेन सर्कल, थालाइयर झरना आदि जगहों पर घुमने जाना सभी पर्यटकों को मनोरम लगता है।

कोडाइकनाल कैसे पहुंचे-How to reach Kodaikanal

वायु मार्ग
कोडैकनाल जाने के वायु मार्ग की व्यवस्था भी यहां पाई जाती है, जो की 120 किलोमीटर की दूरी पर स्थित मदुरै नजदीकी एयरपोर्ट है। मदुरै एयरपोर्ट से बस या टैक्सी के द्वारा कोडईकनाल आसानी से घुमने जाया जा सकता है।

रेल मार्ग
कोडैकनाल में रेलमार्ग की सुविधा भी उपलब्ध है। कोडई रोड़ रेलवे स्टेशन बना हुआ है। जो इस स्थान से लगभग 80 किलोमीटर दूर स्थित है।

सड़क मार्ग
कोडईकनाल घुमने जाने के लिए मदुरै, पलानी, त्रिची, बैंगलोर, कोयंबटूर आदि बड़े शहरों से बसो की सेवाए मिल जाती है। और इनके अलावा कई छोटे शहरों से भी बस सेवाएं उपलब्ध हैं। सडक मार्गो से भी कोदैल्कनाल घुमने की व्यवस्था भी सुनिश्चित की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *