October 15, 2020
Kanyakumari tourist places in hindi कन्याकुमारी में घूमने लायक जगह

Kanyakumari tourist places in hindi कन्याकुमारी में घूमने लायक जगह

Kanyakumari tourist places in hindi कन्याकुमारी भारत के राज्य तमिलनाडु में बसा एक सुंदर शहर है कन्याकुमारी पर्यटन स्थल (Kanyakumari tourist places) बहुत लोकप्रिय है। कन्याकुमारी में घूमने लायक जगह (Places to visit in Kanyakumari) बहुत सारी हैं, भारत के दक्षिण छोर पर बसा कन्याकुमारी के पर्यटक स्थल काफी मनमोहक है। यह हिन्द महासागर, बंगाल की खाड़ी और अरब सागर का मनोहरं द्रश्य है, जिसकी मनोरम छटा पर्यटकों को यहां खींच लाती है। कन्याकुमारी शहर सदियों से कला, संस्कृति और सभ्यता का प्रतीक रहा है। भारत के पर्यटक स्थल के रूप में भी इसका अपना ही महत्च है। हम आपको बताने जा रहे हैं कि कन्याकुमारी में देखने योग्य कौन कौन से पर्यटन स्थल हैं।

कन्याकुमारी में घूमने लायक जगह Places to visit in Kanyakumari

उदयगिरी किला कन्याकुमारी में दर्शनीय स्थल Udayagiri Fort Kanyakumari Best Tourist Place In Hindi
कन्याकुमारी का कन्याकुमारी मंदिर Kanyakumari Temple of Kanyakumari
कन्याकुमारी बीच बेस्ट टूरिस्ट प्लेस Kanyakumari Beach Best Tourist Place
कन्याकुमारी का विवेकानन्द स्मारक शिला – Kanyakumari Vivekananda Rock Memorial In Hindi
कन्याकुमारी में घूमने लायक जगह पद्मानाभपुरम महल – Kanyakumari Padmanabhapuram Palace In Hindi
तिरुचेंदुर मंदिर कन्याकुमारी पर्यटन स्थल – Tiruchendur Temple Tourist Place Of Kanyakumari In Hindi
कन्याकुमारी का ओलाकरुवी झरना – Olakaruvi Falls Tourist Place In Hindi
सूनामी स्मारक कन्याकुमारी – Tsunami Monument Kanyakumari In Hindi

जोधपुर घूमने लायक जगह, यहाँ पढ़ें
हिमाचल प्रदेश पर्यटन स्थल, यहाँ पढ़ें

Udayagiri Fort Kanyakumari Best Tourist Place In Hindi उदयगिरी किला कन्याकुमारी में दर्शनीय स्थल

Udayagiri Fort Kanyakumari Best Tourist Place In Hindi उदयगिरी किला कन्याकुमारी में दर्शनीय स्थल
Udayagiri Fort Kanyakumari Best Tourist Place In Hindi उदयगिरी किला कन्याकुमारी में दर्शनीय स्थल

मथुरा के तीर्थ स्थल की जानकरी यहाँ पढ़ें

उदयगिरी किला Udayagiri Fort Kanyakumari नागरकोल शहर से से 14 किमी दूर, पुलियूरकुरुचि (Puliyoorkurichi) में तिरुवंतपुरम-नागरकोल राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित है। उदयगिरी किले को राजा मार्तंड वर्मा ने बनवाया था और उनके शासनकाल में इस किले का नाम डे लेनॉय किला (De Lannoy’s Fort) था। इस किले में डे लेनॉय और उनकी पत्नी एवं बेटे की समाधि है। और किले के अंदर बंदूकों की ढलाई भी देखी जा सकती है। किले में के जैव विविधता पार्क भी है जहां हिरण, बत्तख, पक्षी सहित 100 से भी अधिक किस्मों के पेड़ लोगों के आकर्षण का केंद्र हैं।

बेस्ट हिंदी शायरी कलेक्शन click here

कन्याकुमारी का कन्याकुमारी मंदिर Kanyakumari Temple of Kanyakumari

कुमारी अम्मन मन्दिर या कन्याकुमारी मन्दिर समुद्रतट पर स्थित है और कन्याकुमारी मन्दिर पार्वती को समर्पित है। पार्वती देवी एक कुँवारी कन्या जिन्होंने भगवान शिव से शादी करने के लिये स्वयं को सजा दिया थी, कथाओं के अनुसार भगवान शिव और देवी कन्याकुमारी की शादी नहीं हुई, इसलिये कन्याकुमारी ने कुँवारी रहने का निश्चय किया। ऐसा भी माना जाता है कि शादी के लिये एकत्रित किये गये अनाज बिना पकाये ही छोड़ दिया गया और सब पत्थरो में बदल गये। आज आज भी यात्री कभी न आयोजित हुई इस शादी की स्मृति में इन अनाज की तरह दिखने वाले पत्थरों को खरीद सकते हैं।

इस मन्दिर को आठवीं शताब्दी में पाण्ड्य शासकों ने बनावाया था और बाद में विजयनगर, चोल और नायक राजाओं द्वारा इसका जीर्णोद्धार कराया गया। कन्याकुमारी मन्दिर में 18वीं सदी का पवित्र स्थान भी है जहाँ पर्यटक देवी के पद चिन्हों को देख सकते हैं मंदिर तीनों समुद्रों के संगम स्थल पर बना हुआ है। यहां सागर की लहरों की आवाज स्वर्ग के संगीत की भांति सुनाई देती है।

Kanyakumari Beach tourist places in hindi कन्याकुमारी बीच बेस्ट टूरिस्ट प्लेस

Kanyakumari Beach tourist places in hindi कन्याकुमारी बीच बेस्ट टूरिस्ट प्लेस
Kanyakumari Beach tourist places in hindi कन्याकुमारी बीच बेस्ट टूरिस्ट प्लेस

कन्याकुमारी बीच (kanyakumari Beach) कन्याकुमारी को कन्नियाकुमारी के नाम से भी जाना जाता था, जिसे पहले केप कमोरिन के नाम से जाना जाता था! इस क्षेत्र का नाम देवी कन्या कुमारी मंदिर के नाम से आता है! यह पर्यटन स्थल बहुत ही प्रशिद्ध है, कन्याकुमारी बीच सैर सपाटा करने के अलावा एक धार्मिक स्थल के रूप म भी जाना जाता है जो भारत के सबसे दक्षिणी सिरे पर स्थित है। कन्याकुमारी समुद्र तट पर सूर्यउदय (sun rise) और सूर्यास्त (sun set) का नजारा अद्भुत होता है। इसे देखने के लिए विशेषरूप से चैत्र पूर्णिमा पर लोगों की भारी भीड़ होती है। कन्याकुमारी बीच एक चट्टानी समुद्र तट है और इस समुद्र में तीन सागरों अरब सागर, बंगाल की खाड़ी और हिंद महासागर का जल मिलता है। यह बीच रंग बिरंगी और मुलायम रेतों के लिए प्रसिद्ध है।

कन्याकुमारी का विवेकानन्द स्मारक शिला–Kanyakumari Vivekananda Rock Memorial In Hindi

कन्याकुमारी में हिन्द महासागर के एक टापू पर स्थित स्वामी विवेकानंद शिला स्मारक है , Vivekananda Rock Memorial यह एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल बन गया है। यह समुद्र तट से 500 मीटर अंदर एक चट्टान के उपर स्थित है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह एकनाथ रानडे थे, एकनाथ रानडे ने विवेकानंद शिला पर विवेकानंद स्मारक मन्दिर बनाने में विशेष कार्य किया। इस सुनसान स्थान पर साधना के बाद उन्हें जीवन का लक्ष्य एवं लक्ष्य प्राप्ति के लिए मार्ग दर्शन मिला था। यहां बहुत ही सुंदर मंदिर के रूप में विवेकानंद स्मारक भवन बनाया गया है। विवेकानंद जयंती पर बहुत से लोग यहां आते हैं। स्वामी विवेकानंद जयंती 12 जनवरी होता है। 6 एकड़ के क्षेत्र में फैला है। यह स्मारक पत्थरों के शीर्ष पर स्थित है और मुख्य द्वीप से लगभग 500 मीटर की दूरी पर है। जो समुद्र के भीतर दूर से ही दिखाई देता है। सूर्योदय और सूर्यास्त के समय बहुत ही सुंदर लगता है।

कन्याकुमारी में घूमने लायक जगह पद्मानाभपुरम महल–Padmanabhapuram mahal Kanyakumari tourist Palace In Hindi

पद्मानाभपुरम महल तमिलनाडु के कन्याकुमारी जिले में स्थित है। यह नागरकोइल, तमिलनाडु और केरल के तिरुवनंतपुरम के करीब है। पद्मानाभपुरम महल में स्थित वेली हिल्स का निचला हिस्सा एक प्रचलित स्थान है। पद्मानाभपुरम महल सन 1601 के आसपास तत्कालीन त्रावणकोर शासक, कुलशेखर पेरुमल द्वारा बनवाया गया था। पद्मानाभपुरम महल ऐतिहासिक जिज्ञासुओं के लिए एक स्वर्ग है, जिसके पूरे कमरे चीनी व्यापारियों द्वारा प्रस्तुत चीनी जार, वास्तविक युद्ध में इस्तेमाल हथियार, पीतल के लैंप, प्राचीन पॉलिश किए हुए फर्नीचर और यहाँ तक कि एक पुरानी शैली के शौचालय इत्यादि तुच्छ चीजों से भरे हुए हैं। शाही परिवार के लिए महल में बनाए गए, एक गुप्त मार्ग के बारे में अफवाहें भी थीं जो कि महल से छुप कर निकलने के मार्ग के रूप में मौजूद थीं। इस महल मे डरावनी किन्तु आकर्षक वस्तुएँ मुझे यहाँ बार बार आने के लिए प्रेरित करती है

तिरुचेंदुर मंदिर कन्याकुमारी पर्यटन स्थल – Tiruchendur Temple Of Kanyakumari Tourist Places  In Hindi

तिरुचेंदुर मंदिर कन्याकुमारी पर्यटन स्थल – Tiruchendur Temple Of Kanyakumari Tourist Places  In Hindi
तिरुचेंदुर मंदिर कन्याकुमारी पर्यटन स्थल – Tiruchendur Temple Of Kanyakumari Tourist Places  In Hindi

तमिलनाडु स्थित तिरुचेंदूर मुरुगन राज्य का एक खूबसूरत नगर का खुबसूरत मंदिर है जो अपने सांस्कृतिक महत्व के लिए जाना जाता है। यह नगर तमिलनाडु के थूथूकुडी जिले के अंतर्गत अपने मंदिरों के लिए ज्यादा प्रसिद्ध हैं। यहां भगवान मुरूगन को समर्पित मंदिर दर्शन के लिए देश भर से श्रद्धालु और पर्यटक आते हैं। धार्मिक रूप से यह दक्षिण भारत का एक महत्वपूर्ण केंद्र है। आप यहां मंदिरों के अलावा समुद्री तटों की खूबसूरती का भी आनंद ले सकते हैं। तिरुचेंदूर मुरुगन मंदिर इस शहर का मुख्य आकर्षण है। यह भगवान मुरुगन के 6 पवित्र धामों में से एक माना जाता है। यह मंदिर भगवान मुरुगन और उनकी दो पत्नियों, वल्ली तथा दीवानाय को समर्पित है। कहा जाता है कि इस मंदिर का अस्तित्व वैदिक काल से है, इसका उल्लेख प्राचीन ग्रंथों में भी है।

इस मंदिर में एक विशाल नौ त्रिस्तरीय गोपुरम अथवा मुख्य प्रवेशद्वार है। इस मंदिर के परिसर में ताज़े पानी के चश्मे के पास एक पवित्र कुँआ, नाझिक्किनारु बना हुआ है। सेंथिलावंदर के रूप में भगवान मुरुगन का मुख पूर्व की ओर है, हालांकि, इस मंदिर का प्रवेशद्वार दक्षिणमुखी है। इस मंदिर की विशेषता यह है कि केवल यही मुरुगन मंदिर समुद्र के किनारे पर स्थित है जबकि बाकी सभी मुरुगन मंदिर भारत में पहाडि़यों की चोटी और जंगलों में स्थित है। ब्रह्योत्सव, वसन्तोत्सव, विसाका विसाकम, स्कंद षष्ठी, अवनीप्पेरुंथिरुनाल तथा मासीप्पेरुंथिरुनाल और ऊंजल सेवई आदि त्योहार बहुत धूमधाम और भव्यता से मनाए जाते हैं और साथ ही महत्वपूर्ण तीर्थ आकर्षण भी हैं।

कन्याकुमारी का ओलाकरुवी झरना – Olakaruvi Falls Tourist Place In Hindi

ओलाकरुवी फॉल्स पश्चिमी घाट में स्थित सुंदर झरना है जिसे उल्लाकरवी फॉल्स के नाम से भी जाना जाता है। इस झरने में दो छोटे-छोटे झरने हैं। ओलाकरुवी झरना कन्याकुमारी से 20 किमी की दूरी पर स्थित हैं। ओलकारूवी जलप्रपात पश्चिमी घाट की एक पहाड़ी के मध्य में स्थित है। यहां चट्टानी वन क्षेत्र के माध्यम से तलहटी से एक घंटे की ट्रेकिंग के द्वारा पहुंचा जा सकता है। इस झरने में दो छोटे-छोटे अन्य झरने हैं। एक पहाड़ी पर करीब 200 मीटर की ऊंचाई पर है और नीचे स्थित झरना बहुत लोकप्रिय पिकनिक स्पॉट है। अगर आप कन्याकुमारी में घूमने जायें तो इसे जरुर देखें।

सूनामी स्मारक कन्याकुमारी – Tsunami Monument Kanyakumari In Hindi

सुनामी स्मारक यहां का एक विशेष स्मारक है। 26 दिसंबर 2004 के दिन हिंद महासागर के सुनामी के प्रकोप का शिकार हुए थे। इनमें 10 हजार लोग तो तमिलनाडु के तटीय इलाकों के ही रहने वाले थे। तमिलनाडु के कन्याकुमारी में सुनामी में मारे गये लोगों की याद में ही सुनामी स्मारक बनाया गया है, सुनामी स्मारक को देखने के लिए दुनिया भर से पर्यटक यहां आते हैं। इसके अलावा यहां सुनामी में अपने प्रियजनों को खो चुके लोग श्रद्धासुमन अर्पित करने भी आते हैं।

kanyakumari sunrise photos -kanyakumari HD photos

kanyakumari sunrise photos -kanyakumari HD photos
kanyakumari sunrise photos -kanyakumari HD photos

कन्याकुमारी कैसे पहुंचे – How To Reach Kanyakumari In Hindi

कन्याकुमारी का सबसे निकटतम हवाई अड्डा त्रिवेंद्रम अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा है जो कन्याकुमारी से 67 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। भारत के प्रमुख शहरों के साथ कुछ खाड़ी देशों से भी वायुमार्ग द्वारा अच्छी तरह जुड़ा है। इस हवाई अड्डे तक पहुंचने के लिए भारत की कई प्रमुख एयरलाइंस सुविधा मौजूद है। जिसके माध्यम से आप यहां पहुंच सकते हैं। इसके साथ ही आप मुंबई और बैंगलोर से कन्याकुमारी एक्सप्रेस से भी यहां आ सकते हैं। कन्याकुमारी एक प्रमुख रेलवे स्टेशन है जहां पहुंचने के बाद आप कन्याकुमारी शहर जाने के लिए टैक्सी ले सकते हैं।