November 19, 2019
जयपुर का जयगढ़ किला |Jaigarh Fort Jaipur History In Hindi

Jaigarh Fort/jaipur ka jaigarh kila/विजय किला,

Jaigarh Fort/ jaipur ka jaigarh kila , जयगढ़ क़िला राजस्थान के जयपुर में अरावली की पर्वतमालाओं में चील का टीला पर स्थित एक बहुत ही भव्य धरोहर है। Jaigarh Fort को महाराजा जय सिंह ने 18 वीं सदी में बनवाया था। बताया गया है की इस किले पर रखी यह तोप दुनिया में सबसे बड़ी तोप  है। जयगढ़ किला को जयपुर शहर की समृद्ध संस्कृति को दर्शाने के लिए बनवाया गया था। यह किला उंचाई पर स्थित होने के कारण इससे पूरे जयपुर शहर का मनोहरम दृश्य देखा जा सकता है।  यह किला भारत के राजस्थान के जयपुर में आमेर के पास बना हुआ है। इस किले को आमेर किले की सुरक्षा के लिये बनवाया था इस किले को आमेर फोर्ट के आकार में ही बनाया गया है, Jaigarh Fort को भी विजयी किला भी कहा जाता है। Jaigarh Fort/ jaipur ka jaigarh kila उत्तर-दक्षिण से लम्बाई 2.6  किलोमीटर और चौड़ाई 1.5  किलोमीटर है। इस किले को जयवेन के नाम से भी जाना जाता है,

जयगढ़ किला की जानकारी – Jaigarh Fort Jaipur Information In Hindi

महल के कॉम्प्लेक्स में लक्ष्मी विलास, ललित मंदिर, विलास मंदिर और आराम मंदिर भी बना हुआ है और एक हथियार ग्रह और म्यूजियम भी बना हुआ है। जयगढ़ किला और आमेर किला एक ही कॉम्प्लेक्स से जुड़ा हुआ है। प्राचीन समय में आमेर धुन्धर के नाम से जाना जाता था। आमेर के किले का, प्राचीन राजा और मीनाओ के काल में डेटिंग के लिये उपयोग किया जाता था। और यही किला आज जयगढ़ किले के नाम से जाना जाता है। वास्तव में यह किला आमेर किले की सुरक्षा के लिये बनाया गया था। किले में स्थित सागर तालाब में पानी को इकट्टा करने की उचित व्यवस्था है।

Jaigarh Fort/ jaipur ka jaigarh kila

Jaigarh Fort/jaipur ka jaigarh kila
Jaigarh Fort/jaipur ka jaigarh kila

किले का निर्माण, सेना की सेवा के उद्देश्य से किया गया था जिसकी दीवारे लगभग 3 किमी. के क्षेत्र में फैली हुई है। किले के शीर्ष पर एक विशाल तोप रखी है जिसे जयवैन कहा जाता है। इस तोप का वजन 50 टन है। इस तोप में 8 मीटर लम्बे बैरल रखने की सुविधा है जो दुनिया भर में पायी जाने वाली तोपों के बीच सबसे ज्यादा प्रसिद्ध तोप है। किले के सबसे ऊँचे पॉइंट पर दिया बुर्ज है जो लगभग सात मंजिलो पर स्थित है, यहाँ से पुरे शहर का मनोरम दृश्य दिखाई देता है।

जयगढ़ किला का इतिहास – Jaigarh Fort Jaipur History In Hindi

जयगढ़ राजस्थान का एकमात्र ऐसा किला है, जिस पर कभी आक्रमण नहीं हुआ. इस लिए जयगढ़ किले को विजय किले के रूप में भी जाना जाता है। श्रीमती इंदिरा गांधी के शासन काल में गुप्त खजाने की खोज में इस किले के भीतर गहरी खुदाई की घटना ने जयगढ़ को देश भर में चर्चित बना दिया. यह जयपुर के विख्यात पर्यटन स्थलों में से एक है जो शहर से 15 किमी. की दुरी पर स्थित है। यह इगल्स के हील पर आमेर किले से 400 फूट की ऊंचाई पर स्थित है। इस किले के दो प्रवेश द्वार है जिन्हें दंगुर दरवाजा और अवानी दरवाजा कहा जाता है जो क्रमशः दक्षिण और पूर्व दिशाओ पर बने हुए है।

जयगढ़ किला महाराजा जय सिंह ने 18वीं सदी में बनवाया था और यह शानदार किला जयपुर में अरावली की पहाडि़यों पर चील का टीला पर स्थित है। विद्याधर नाम के वास्तुकार ने इसका डिज़ाइन तैयार किया था और इस किले के उंचाई पर स्थित होने के कारण इससे पूरे जयपुर शहर का मनोहरम दृश्य देखा जा सकता है। यह मुख्य रुप से राजाओं की पसंदीदा आवासीय भवन था लेकिन बाद में मुख्य तोप ढुलाई बन गया। यह हथियारों, गोला बारुद और युद्ध की अन्य युद्ध की जरुरी सामग्रियों के भंडार करने की जगह भी बन गया। इसका इस्तेमाल शस्त्रागार के तौर पर इस्तेमाल किया जाने लगा। इतिहास और वास्तुकला जयगढ़ किले के पीछे एक समृद्ध इतिहास है।

जयगढ़ किले की देखरेख दारा शिकोह करते थे,  औरंगज़ेब की पराजय के बाद यह किला जय सिंह के शासन में आ गया और उन्होंने इसका पुनर्निमाण करवाया। इस किले के इतिहास से जुड़ी एक और रोचक कहानी है। इतिहास के अनुसार, शासकों ने इस किले की मिट्टी में एक बड़ा खजाना छुपाया था। हालांकि एैसे खजाने को कभी बरामद नहीं हो सका। इस किले की बाहरी दीवारें लाल बलुआ पत्थरों से बनी हैं  इसमें बड़े बड़े दरबार और हॉल हैं जिनमें पर्देदार खिड़कियां हैं। विशाल दीवारों के वजह से यह किला सब तरह से अच्छी तरह सुरक्षित है। यहां एक शस्त्रागार और योद्धाओं के लिए एक हॉल के साथ एक संग्रहालय है जिसमें पुराने कपड़े, पांडुलिपियां, हथियार और राजपूतों की कलाकृतियां हैं।

Jaigarh Fort/ jaipur ka jaigarh kila

Jaigarh Fort/jaipur ka jaigarh kila
Jaigarh Fort/jaipur ka jaigarh kila

इस विशाल महल में लक्ष्मी विलास, विलास मंदिर, ललित मंदिर और अराम मंदिर हैं जो शासन के दौरान शाही परिवार रहने पर इस्तेमाल करते थे। दो पुराने मंदिरों के कारण इस किले का आकर्षण और बढ़ जाता है, जिसमें से एक 10वीं सदी का राम हरिहर मंदिर और 12वीं सदी का काल भैरव मंदिर है। इसके मध्य में एक वाच टावर है जिससे आसपास का खूबसूरत नज़ारा दिखता है पास ही में स्थित आमेर किला जयगढ़ किले से एक गुप्त मार्ग के ज़रिए जुड़ा है। इसे आपातकाल में महिलाओं और बच्चों को निकालने के लिए बनाया गया था। आमेर किले में पानी की आपूर्ति के लिए इसके केंद्र में एक जलाशय भी है।

One thought on “Jaigarh Fort/jaipur ka jaigarh kila/विजय किला,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *