January 23, 2021

India Republic day । 26 जनवरी गणतंत्र दिवस व् 26 जनवरी का इतिहास

India-Republic-day-of-image-history-of-26-january-Republic-day

India Republic day, 26 जनवरी (26 January) पूरे भारत में गणतंत्र दिवस (Republic Day) मनाया जाएगा। भारत में सभी जाति और धर्म के लोग, गणतंत्र दिवस को बड़े ही उत्साह के साथ मनाते हैं। भारत में 26 January (गणतंत्र दिवस) बहुत महत्वपूर्ण है, क्योंकि 26 जनवरी 1950 को भारत का संविधान लागू हुआ था। जिस वजह से पूरे भारत में हर साल 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाया जाता है। दुनिया में भारत का संविधान लिखित में सबसे बड़ा है। गणतंत्र के दिन भारत के प्रधानमंत्री देश को संभोदित करते है, गणतंत्र दिवस का भाषण भारत में लाइव चलता है, पुरे भारत वासी गणतंत्र दिवस के मौके पर एक दुसरे को बधाई देते हैं।

republic day india

भारत 26 जनवरी 2021 को अपना 72 गणतंत्र दिवस मनाएगा। भारतीय संविधान लागू होने के दिन को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है। यह याद रखने का दिन है कि भारत का संविधान, 26 जनवरी 1950 को लागू हुआ, जिससे देश एक स्वतंत्र गणराज्य बना । भारत विविध धर्मों, आस्थाओं और संस्कृतियों का देश है, और भारत हर दिन कोई न कोई त्यौहार मनाया जाता है। यहाँ हर त्यौहार को सब मिल कर पूरे उल्लास के साथ मनाते हैं। 26 जनवरी भी एक ऐसा त्यौहार है, जो देश का राष्ट्रीय पर्व है। देश का हर नागरिक चाहे वह किसी धर्म, जाति या संप्रदाय से ताल्लुक रखता हो, इस दिन को राष्ट्र प्रेम से ओतप्रोत होकर, गणतंत्र दिवस को मनाता है। गणतंत्र दिवस प्रत्येक देशवासी के लिए महत्वपूर्ण हैं, और पूरे देश में सम्मान और स्नेह के साथ मनाए जाते हैं।

26 जनवरी का इतिहास । India Republic day history of 26 january

इतिहास की बात करें तो इस दिन भारत का संविधान लागू हुआ। 15 अगस्त को भारत के स्वतंत्रता दिवस के रूप में स्वीकार किया गया। भारत के आज़ाद हो जाने के बाद संविधान सभा की घोषणा हुई, संविधान सभा के सदस्य भारत के राज्यों की सभाओं के निर्वाचित सदस्यों के द्वारा चुने गए थे। डॉ० भीमराव अम्बेडकर, जवाहरलाल नेहरू, डॉ राजेन्द्र प्रसाद, सरदार वल्लभ भाई पटेल, मौलाना अबुल कलाम आजाद आदि इस सभा के प्रमुख सदस्य थे। संविधान निर्माण में कुल 22 समितीयां थी जिसमें प्रारूप समिति (ड्राफ्टींग कमेटी) सबसे प्रमुख एवं महत्त्वपूर्ण समिति थी और इस समिति का कार्य संपूर्ण ‘संविधान लिखना’ था। प्रारूप समिति के अध्यक्ष डॉ० भीमराव आंबेडकर थे।

भारत के 10 खुबसूरत पर्यटन स्थल

history of India Republic day

India-Republic-day-of-image-history-of-26-january-Republic-day-

प्रारूप समिति ने और उसमें विशेष रूप से डॉ. आंबेडकर जी ने 2 वर्ष, 11 माह, 18 दिन में भारतीय संविधान का निर्माण किया और संविधान सभा के अध्यक्ष डॉ. राजेन्द्र प्रसाद को 26 नवम्बर 1949 को भारत का संविधान सुपूर्द किया, इसलिए 26 नवम्बर दिवस को भारत में संविधान दिवस के रूप में प्रति वर्ष मनाया जाता है। संविधान सभा ने संविधान निर्माण के समय कुल 114 दिन बैठक की। इसकी बैठकों में प्रेस और जनता को भाग लेने की स्वतन्त्रता थी। अनेक सुधारों और बदलावों के बाद सभा के 308 सदस्यों ने 24 जनवरी 1950 को संविधान की दो हस्तलिखित कॉपियों पर हस्ताक्षर किये। इसके दो दिन बाद संविधान 26 जनवरी को यह देश भर में लागू हो गया।

26 जनवरी को संविधान में भारत के गणतंत्र स्वरूप को मान्यता प्रदान की गई। आप सभी जानते है कि 15 Aug 1947 को हमारा भारत आजाद हुआ, इस आजादी के लिए हमारे हजारों देशभक्तो ने बलिदान दिया था। हजारो लाखो नोजवानो के संघर्ष और बलिदान के कारण भारत अंग्रेजी साशन से मुक्त हुआ था । इसके बाद 26 जनवरी 1950 को अपने देश में भारतीय साशन और कानून व्यवस्था लागू हुई । इस स्वतन्त्रा को पाने में अपने देश के हजारो लाखो, बेटो अपनी जान कुर्बान की थी, हजारों-हजारों माताओं की गोद सूनी हो गई थी, हजारों बहिनों बेटियों के मांग का सिंदूर मिट गया था, तब कहीं इस महान बलिदान के बाद देश स्वतन्त्र हो सका था ।

सिक्किम टूरिस्ट पल्सेस की जानकारी 

India Republic day of image history of 26 January Republic day

India-Republic-day-of-image-history-of-26-january-Republic-day

गणतंत्र दिवस समारोह । India Republic day celebration

26 जनवरी के दिन गणतंत्र दिवस समारोह, का आयोजन पुरे देश होता है, जिस में मुख्य आकर्षण भारत की राजधानी दिल्ली, में होने वाले गणतंत्र दिवस समारोह का होता है, यहाँ पर भारत के राष्ट्रपति द्वारा भारत के राष्ट्र ध्वज को फहराया जाता हैं, और सामूहिक रूप में खड़े होकर राष्ट्रगान गाया जाता है। फिर राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा को सलामी दी जाती है ।

गणतंत्र दिवस को पूरे देश में बहुत उत्साह के साथ मनाया जाता है। इस अवसर पर हर साल एक भव्य परेड होती है, इस भव्य परेड में भारतीय सेना के विभिन्न रेजिमेंट, वायुसेना, नौसेना के अधिकारी और जवान सभी भाग लेते हैं। जो इंडिया गेट से राष्ट्रपति भवन (राष्ट्रपति के निवास) तक राजपथ पर, नई दिल्ली में आयोजित किया जाता है। इस मौके पर भारत की सैन्य शक्ति के पराक्रम के प्रदर्शन किया। भारतीय सेना में शामिल हुए नए युद्धक यंत्र व हथियारों की झलक भी देखने को मिली।

Republic Day

गणतंत्र दिवस समारोह में भाग लेने के लिए, देश के सभी हिस्सों से राष्ट्रीय कडेट कोर, व विभिन्न विद्यालयों से बच्चे आते है। परेड प्रारंभ से पहले प्रधानमंत्री, अमर जवान ज्योति पर पुष्प अर्जित करते हैं| अमर जवान ज्योति सैनिकों के लिए बना एक स्मारक है, जो राजपथ के एक छोर पर इंडिया गेट के पास स्थित है।और इसके बाद में शहीद सैनिकों की स्मृति में दो मिनट मौन रखा जाता है।

विसाल परेड में भारत के सभी राज्यों की प्रदर्शनी भी होती हैं, इस प्रदर्शनी में सभी अपने राज्य के लोगों की विशेषता, उनके लोक गीत, कला व् साहित्य का मोहरम द्रश्य प्रस्तुत किया जाता है। इस प्रदर्शिनी भारत की विविधता व सांस्कृतिक झाकियों के रूप में प्रदर्शित किया जाता है। गणतंत्र दिवस समारोह को राष्ट्रीय टेलीविजन, पर लाइव प्रसारित किया जाता है, देश के हर कोने में करोड़ों दर्शकों के द्वारा देखा जाता है।

गेटवे ऑफ इंडिया की जानकारी

देश दुनिया के इतिहास में 26 जनवरी की तारीख पर दर्ज अन्य महत्वपूर्ण घटनाये

26 January 1930 ब्रिटिश शासन के अंतर्गत भारत में पहली बार स्वराज दिवस मनाया गया।
26 January 1931 सविनय अवज्ञा आंदोलन’ के दौरान ब्रिटिश सरकार से बातचीत के लिए महात्मा गांधी को रिहा किया गया।
26 January 1950 स्वतंत्र भारत का संविधान लागू हुआ और भारत को एक संप्रभु लोकतांत्रिक गणराज्य घोषित किया गया।
26 January 1950 फेडरल कोर्ट ऑफ इंडिया, को भारत का उच्चतम न्यायालय बनाया गया।
26 January 1950 सी. गोपालाचारी ने भारत के अंतिम गवर्नर जनरल का पद छोड़ा था।
26 January 1950 डा. राजेन्द्र प्रसाद ने देश के प्रथम राष्ट्रपति का पद संभाला।
26 January 1950 अशोक स्तंभ को राष्ट्रीय प्रतीक चिह्न के रूप में अपनाया गया।
26 January 1556 मुगल बादशाह हुमायूं की सीढ़ियों से गिरने से मौत।
26 January 1957 जम्मू कश्मीर के भारत की तरफ के हिस्से को औपचारिक रूप से भारत का हिस्सा बनाया गया।
26 January 1963 माथे पर मुकुट और खूबसूरत पंखों वाले मोर को राष्ट्रीय पक्षी घोषित किया गया।
26 January 1972 दिल्ली के इंडिया गेट पर राष्ट्रीय स्मारक अमर जवान ज्योति का अनावरण।
26 January 1981 वायुदूत विमान सेवा की शुरूआत।
26 January 1982 पर्यटकों को रेल के सफर के दोरान भारतीय रेल ने पैलेस ऑन व्हील्स सेवा शुरू की।
26 January 2001 गुजरात के भुज में 7.7 तीव्रता का भीषण भूकंप, हजारों लोग मारे गए।
26 January 2008 गणतंत्र दिवस के अवसर पर देश की पहली महिला राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने परेड की सलामी ली।

image of 26 january India Republic day

image-of-26-january-India-Republic-day

26 जनवरी पर शायरी — 26 January Republic day India Shayari In Hindi

सारे जहां से अच्छा हिन्दोस्तां हमारा,
हम बुलबुले हैं इसके, ये गुलिस्तान हमारा
Happy Republic Day

जमाने भर में मिलते है आशिक कई,
जमाने भर में मिलते है आशिक कई,
मगर वतन से खुबसूरत कोई सनम नही होता.!

Republic Day

बेस्ट हिंदी शायरी कलेक्शन click here

खुशनसीब है वो जो वतन पर मिट जाते है,
मर कर भी वो लोग अमर हो जाते हैं,
करता हूं उन्हें सलाम ए वतन पर मिटने वालों
तुम्हारी हर सांस में बसता तिरंगे का नसीब है..
India Republic day

ऐ मेरे वतन के लोगों तुम खूब लगा लो नारा,
ये शुभ दिन है हम सब का लहरा लो तिरंगा प्यारा,
26 January Republic Day Shayari in Hindi

रिपब्लिक डे पर शायरी

दिल एक है जान एक है हमारी,
हिंदुस्तान हमारा है ये शान है हमारी।

26 january shayari

ना जियो धर्म के नाम पर,
ना मरो धर्म के नाम पर,
इंसानियत ही है धर्म वतन का
बस जियों वतन के नाम पर
26 january shayari

दे सलामी इस तिरंगे को
जिस से तेरी शान हैं,
सर हमेशा ऊँचा रखना इसका
जब तक दिल में जान हैं..
republic day shayari

कुछ नशा तिरंगे की आन है
कुछ नशा मातृभूमि की शान का है
हम लहराएँगे हर जगह ये तिरंगा
नशा ये हिंदुस्तान की शान का है
गणतंत्र दिवस पर शायरी

लहराएगा तिरंगा अब सारे आस्मां पर
भारत का नाम होगा सब की जुबान पर
ले लेंगे उसकी जान या खेलेंगे अपनी जान पर
कोई जो उठाएगा आँख हमारे हिन्दुस्तान पर
shayari on republic day

चलो फिर से खुद को जागते है
अनुसासन का डंडा फिर घूमाते है
सुनहरा रंग है गणतंत्र का सहीदो के लहू से
ऐसे सहीदो को हम सब सर झुकाते ।
गणतंत्र दिवस शायरी

मैं तो सोया था गहरी नींद मैं
सरहद पर था जवान जगा रात सारी,
ये सोच कर नींद मेरी उड़ गयी
जवान कर रहा रक्षा हमारी
26 जनवरी शायरी

अगर माटी के पुतले देह में ईमान जिन्दा हैं,
तभी इस देश की समृद्धि का अरमान जिन्दा हैं,
ना भाषण से है उम्मीदें ना वादों पर भरोसा हैं,
शहीदों की बदौलत मेरा हिन्दुस्तान जिन्दा है।
26 january shayari in hindi

National Parks In India

Darjeeling tourist place in Hindi 

दोस्तों हमे उमीद है कि यह पोस्ट आपको पसंद आया होगा,  हमारा यह आर्टिकल India Republic day । 26 जनवरी गणतंत्र दिवस व् 26 जनवरी का इतिहास आपको कैसे लगा और इसे अपने दोस्तों के साथ भी share करें और  आपको हमारी तरफ़ से Happy New Year की बहुत सारी शुभकामनये!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *