January 23, 2021

Gateway of India information, History In Hindi । गेटवे ऑफ इंडिया की जानकारी

Gateway-of-India-information-History-In-Hindi । गेटवे-ऑफ-इंडिया-की-जानकारी

gateway of india in hindi मुम्बई सिर्फ सपनों का शहर ही नहीं है, बल्कि ये पर्यटकों का शहर भी है। यहाँ पर्यटकों के लिए कई आकर्षक केंद्र हैं। मुम्बई के प्रसिद्द आकर्षक पर्यटक स्थल, में एक गेटवे ऑफ़ इंडिया है। मुम्बई की शान गेटवे ऑफ़ इंडिया यहाँ का सबसे प्रसिद्द पर्यटक स्थल है, और मुम्बई का प्रमुख लैंड मार्क भी है। गेटवे ऑफ़ इंडिया मुंबई में भारत की सबसे प्रसिद्ध संरचनाओं में से एक है। यह स्थान यदि आप समुद्री रास्ते से आते हैं, तो भारत का प्रवेश द्वार भी है। इस इमारत को ब्रिटिश वास्तुकार जॉर्ज विटेट द्वारा डिजाइन किया गया था। भारत में ब्रिटिश शासन के दौरान निर्मित, यह ऐतिहासिक इमारत थी। गेटवे ऑफ़ इंडिया अक्सर विदेशी पर्यटकों की यात्रा स्थल के लिए ले जाता है। वे गेटवे ऑफ़ इंडिया की सुंदरता को ज़रूर ही देखना नहीं भूलते हैं।

gateway of india in hindi

मुम्बई में पर्यटकों के लिये कई प्रसिद्द आकर्षक केन्द्र है, इन में एक सबसे प्रसिद्द आकर्षक केंद्र गेटवे ऑफ़ इंडिया है। मुम्बई की शान गेटवे ऑफ़ इंडिया मुम्बई का प्रमुख लैंड मार्क भी है। जो भी इस शहर की यात्रा पर जाते हैं वे गेटवे ऑफ़ इंडिया की सुंदरता को देखना नहीं भूलते हैं। भारत के साथ-साथ दुनिया भर में गेटवे ऑफ़ इंडिया की कुछ ऐसी ज़रूरी बातें भी हैं, जो आपको भी पता होना चाहिए। आइये आज हम इस पोस्ट में मुम्बई के सबसे शानदार आकर्षक केंद्र, गेटवे ऑफ़ इंडिया के बारे में कुछ दिलचस्प तथ्यों के बारे में जानते हैं।

विषय – सूची
1 गेटवे ऑफ इंडिया की जानकारी
2 विवरण गेटवे ऑफ इंडिया स्ट्रक्चर
3 गेटवे ऑफ इंडिया का इतिहास
4 गेटवे ऑफ इंडिया का पता
5 गेटवे ऑफ इंडिया की यात्रा का अनुभव
6 गेटवे ऑफ इंडिया घूमने जाने का सबसे अच्छा समय
7 गेटवे ऑफ इंडिया कैसे जाएं?
8 गेटवे ऑफ इंडिया के आसपास कहां रूकें
9 गेटवे ऑफ इंडिया के पास घूमने की प्रमुख जगहें
10 गेटवे ऑफ इंडिया की फोटो
11विवरण गेटवे ऑफ इंडिया स्ट्रक्चर

History of Gateway of India In Hindi । गेटवे ऑफ इंडिया का इतिहास

दिसंबर 1911 में किंग जॉर्ज पंचम और क्वीन मैरी की मुंबई यात्रा के उपलक्ष्य में, गेटवे ऑफ इंडिया के निर्माण की योजना ब्रिटिश सरकार ने बनाई थी। बंबई के गवर्नर ने 31 मार्च, 1913 को इस खूबसूरत ईमारत की नींव रखी। गेटवे ऑफ इंडिया जमनी सतह से 26 मीटर ऊँचा है। गेटवे ऑफ इंडिया हिंदू और मुस्लिम धार्मिक प्रतीकों के संयोजन का प्रतिनिधित्व करता है। इसके वास्तुकार में, आप गुजराती शैली का प्रभाव देख सकते हैं। ब्रिटेन प्रशासन, किंग जॉर्ज पंचम और क्वीन मैरी, की भारत यात्रा के स्वागत में इस इमारत को बनाने के मुख्य कारण थे।

इस ऐतिहासिक स्थल को प्रवेश द्वार के रूप में देखना बहुत ही रोचक है। गेटवे ऑफ इंडिया का निर्माण कार्य 1920 में शुरू हुआ जो 1924 में बनकर पूरा हुआ। 4 दिसंबर, 1924 को इस ईमारत का, वायसराय अर्ल ऑफ रीडिंग, के द्वारा उद्घाटन हुआ, इसके बाद गेटवे ऑफ इंडिया को आम लोगो के लिए खोल दिया गया था। गेटवे ऑफ इंडिया की खास बात यह की ब्रिटेन प्रशासन के समाप्त होने के बाद अंतिम ब्रिटिश लोग गेटवे ऑफ इंडिया से इंग्लैंड गए थे। गेटवे ऑफ इंडिया भारत में सबसे अच्छे पर्यटन स्थल में से एक है।

गेटवे ऑफ़ इंडिया की संरचना

पीले बेसाल्ट और मजबूत कंक्रीट में गेटवे ऑफ़ इंडिया को बनाया गया है। इसकी ऊंचाई ज़मीनी तल से लगभग 26 मीटर ऊपर है। गेटवे ऑफ़ इंडिया दीवारे खूबसूरत जाली से सजाया गया है। और इसका मुख्य गुम्बद लगभग 15 मीटर है।

गेटवे ऑफ इंडिया के पास घूमने की प्रमुख जगहें- places to visit near Gateway of India

कोलाबा कॉजवे गेटवे ऑफ इंडिया के बेहद नजदीक मार्किट

कोलाबा कॉजवे मार्केट गेटवे ऑफ़ इंडिया के पास एक परषिद बाज़ार है, मुंबई के इस कोलाबा कॉजवे मार्केट में खरीदारी करना सबसे आसान है। बहुत कम दरों पर, घरेलु और जरुरी सामान खरीद सकते हैं। इस मार्किट के पास कई फैशनेबल बुटीक और ब्रिटिश इमारतें हैं जो पर्यटक को शानदार दृश्य प्रदान करती हैं।

हाथी गुफा गेटवे ऑफ इंडिया के नजदीकी पर्यटन स्थल

हाथी गुफा गेटवे ऑफ इंडिया के बेहद नजदीक परषिद गुफा है, जहां आप पानी के जहांज से जा सकते है। गेटवे ऑफ इंडिया देखने आने वाले पर्यटक, हाथी गुफा देखने जरूर जाते है, इसका आकषर्ण बहुत शानदार है।

होटल ताज महल गेटवे ऑफ इंडिया के नजदीकी होटल

ताज महल होटल, भारत का सबसे प्रतिष्ठित और शानदार होटल है, जो काफी परषिद और चर्चित होटल है। यह गेटवे ऑफ इंडिया के करीब स्थित है।

वालकेश्वर का मंदिर गेटवे ऑफ इंडिया के नजदीकी द्रश्यनिये स्थल

वालकेश्वर मंदिर एक प्राचीन मंदिर है, यह मंदिर एक प्रचलित महत्वपूर्ण धार्मिक कहानी से जुड़ा है। जिसके अनुसार भगवान श्री राम ने इस मंदिर में पूजा कि थी, जिसे वैज्ञानिकों का यह दावा साबित करता है, की यह मंदिर 3000 साल पुराना है।

नेहरू विज्ञान केंद्र गेटवे ऑफ इंडिया

नेहरू विज्ञान केंद्र में कला प्रदर्शनियाँ, वैज्ञानिक प्रदर्शनियाँ, और कुछ अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्रम देखे जा सकते हैं। अगर आप विज्ञानं में रूचि रहते है, तो यह स्थान आपके लिए सही हैं। गेटवे ऑफ इंडिया के समाने छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा लगी है जो मराठाओं के गर्व और साहस के प्रतीक को प्रदर्शित करती है।

गेटवे ऑफ इंडिया की जानकारी – Interesting Facts About Gateway Of India In Hindi

गेटवे-ऑफ-इंडिया-की-जानकारी – Interesting-Facts-About-Gateway-Of-India-In-Hindi

गेटवे ऑफ इंडिया देखने का कोई टिकट या शुल्क नहीं लगता है।

इस खुबसूरत गेटवे ऑफ इंडिया की ऊंचाई जमीनी सतह से 26 मीटर है।

गेटवे ऑफ इंडिया सुबह 7 बजे खुलता है और शाम को साढ़े पांच बजे बंद हो जाता है।

यह जगह आमतौर पर आकर्षक फोटोग्राफी, घूमने की बेहतर जगह और अपने इतिहास के कारण प्रसिद्ध है।

गेटवे ऑफ इंडिया के चार बुर्ज हैं,जिसे जाली से बनाया गया था।

भारत को आजादी मिलने के बाद ब्रिटिश सेना गेटवे ऑफ इंडिया के द्वार से होकर अपने देश गए थे।

अरब सागर से होकर आने वालो के लिये गेटवे ऑफ इंडिया भारत का द्वार कहलाता है।

गेटवे ऑफ इंडिया के निर्माण में कुल 21 लाख रूपये का खर्च आया था, और ये संपूर्ण खर्च सरकार द्वारा उठाया गया था।

गेटवे ऑफ इंडिया की यात्रा का अनुभव

मुंबई शहर में पर्यटकों के देखने के लिए, बहुत सारी प्रचीन स्मारक और इमारत है। फिर भी गेटवे ऑफ इंडिया संस्कृति, और इतिहास का अनुभव करने के लिए एक आदर्श स्थान है। लगभग सभी देशों और धर्मो के पर्यटक गेटवे ऑफ इंडिया को दखने आते हैं। यह पर्यटन स्थल होने के कारण यहां हमेशा भीड़ जमा रहती है, इसलिए यह जगह फोटोग्राफरों, छोटे दुकानदारो और खाद्य विक्रेताओं को रोजगार भी प्रदान करती है। अगर आप को सुंदर और ऐतिहासिक स्थलों देखने की रूचि है, तो आपको इस सुन्दर इमारत गेटवे ऑफ इंडिया का आकषर्ण जरुर देखना चाहिए।

बेस्ट हिंदी शायरी कलेक्शन click here

Best Time To Visit Gateway Of India In Hindi

गेटवे ऑफ इंडिया घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Gateway Of India In Hindi

गेटवे ऑफ इंडिया मुंबई में है, और यहाँ का मौसम पुरे साल ( 12 महीने ) सुहावना होता है, इसलिए आप यहां साल में कभी भी आ सकते हैं। फिर भी नवंबर से मार्च के बीच का समय यहां घुमाने का आन्दन के लिए सबसे अच्छा होता है। नवंबर से मार्च में मुंबई का मौसम अधिक सुहावना होता है। गेटवे ऑफ इंडिया की बात करे तो यह पूरे साल के 12 महीने खुला रहता है।

सिक्किम टूरिस्ट पल्सेस की जानकारी 

मुंबई गेटवे ऑफ इंडिया के पास कहां रूकें

मुंबई एक मेट्रो सिटी है, यहाँ होटलों की संख्या काफी ज्यादा है। गेटवे ऑफ इंडिया के पास सस्ते लोज से लेकर 5 स्टार होटल, 7 स्टार जेसी होटले आसानी से मिल जाती है। जिसमे ताज महल पैलेस, होटल हार्बर व्यू, एबोड बॉम्बे सहितअनेक होटल हैं जहां आप अपनी सुविधानुसार प्री बुकिंग भी करा सकते हैं।

गेटवे ऑफ इंडिया कैसे जाएं?

जैसा कि हम सभी जानते हैं, कि मुंबई भारत का एक आधुनिक और हाई प्रोफाइल शहर है। यहाँ भारत की फिल्म सिटी भी है। ऐसे में यह शहर देश और दुनिया के साथ, हवाई मार्ग, सड़क मार्ग से अच्छी तरह से जुड़ा हैं। आप विश्व के किसी भी कोने में हो मुंबई तक आसानी से पंहुच सकते हो।आप एक रास्ता चुन सकते हैं, जो आपकी सुविधा के अनुसार है।

हवाई मार्ग से: मुंबई में अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा, छत्रपति शिवाजी हवाई अड्डा, और सांता क्रूज़ घरेलू हवाई अड्डा भी है। आपको मिलने वाले किसी भी हवाई अड्डे से गेटवे ऑफ इंडिया के लिए एक टैक्सी ली जा सकती है। गेटवे ऑफ इंडिया मुंबई शहर से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।

ट्रेन द्वारा से : भारत के हर कोने से ट्रेनें छत्रपति शिवाजी जंक्शन पर पहुंचती हैं। मुंबई सेंट्रल स्टेशन के द्वारा पहुँचा जाता है। भले ही आप भारत में कहां से आए हों। आप इन दो स्टेशनों पर यात्रा कर सकते हैं जो आपको गेटवे ऑफ इंडिया के नजदीक तक ले जाते हैं। आप यहाँ से टैक्सी ले सकते है।

सड़क मार्ग से: मुंबई में नेशनल हाईवे के अच्छे कनेक्शन हैं। मुंबई सेंट्रल बस स्टेंड भारत के हर राज्यों से बस द्वारा भी पहुँचा जा सकता है। पुणे और नासिक के बुस को एएसआईएडी बस बूथ पर होस्ट किया गया है।

गेटवे ऑफ इंडिया का पता

पता: गेटवे ऑफ इंडिया, अपोलो बंदर, कोलाबा, मुंबई, महाराष्ट्र 400001

गेटवे ऑफ इंडिया की फोटो । Photo of Gateway of India

गेटवे-ऑफ-इंडिया-की-फोटो । Photo-of-Gateway-of-India
गेटवे-ऑफ-इंडिया-की-फोटो । Photo-of-Gateway-of-India

 

National Parks In India

Darjeeling tourist place in Hindi 

दोस्तों हमे उमीद है कि यह पोस्ट आपको पसंद आया होगा,  हमारा यह आर्टिकल Gateway of India information, History In Hindi । गेटवे ऑफ इंडिया की जानकारी आपको कैसे लगा और इसे अपने दोस्तों के साथ भी share करें और  आपको हमारी तरफ़ से Happy New Year की बहुत सारी शुभकामनये!

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *